Home HINDI जब भारतीय सेना ने बचाई जान

जब भारतीय सेना ने बचाई जान

भारतीय सेना को दुनिया की चौथी ताकतवर सेना माना गया है | हमारी देश की सेना की वीरता के बारे में जितनी भी मिसाल दी जाए वह कम है | समय समय पर हर मुश्किल घड़ी में देशवासियों की रक्षा के लिए अपनी जान की परवाह ना करते हुए सेना ने कमाल दिखाया है | भारतीय सेना ने हर मुश्किल घड़ी में देश को संभाला है |

0
SHARE
Indian Army Rescue Operation, Indian Army saving lives, indian rescue operation
Indian Army Rescue Operation/ToursPlace

भारतीय सेना को दुनिया की चौथी ताकतवर सेना माना गया है | हमारी देश की सेना की वीरता के बारे में जितनी भी मिसाल दी जाए वह कम है | समय समय पर हर मुश्किल घड़ी में देशवासियों की रक्षा के लिए अपनी जान की परवाह ना करते हुए सेना ने कमाल दिखाया है | इसी महीने में जब जम्मू कश्मीर में बाढ़ ने आफत मचाई तब भारतीय सेना ने करीब 47000 लोगों को बाढ़ से सुरक्षित बाहर निकाला | सेना ने न केवल भारतीय बल्कि 18 पाक नागरिकों की भी जान बचाई |

Also ReadMumbai Court Awards Death Sentence to 27-YO Kidnapping-cum-Murder Convict

बता दें कि बीते मार्च महीने में अरुणाचल प्रदेश के तवांग से करीब 78 किलोमीटर दूर सेलापास की वह जगह जो करीब 13680 फीट की ऊँचाई पर स्थित है जंहा अचानक बर्फबारी होने के कारण करीब 680 स्थानीय नागरिक एवं सैलानी फंस गए थे | ऐसी मुश्किल घड़ी में भारतीय सेना ने अपनी जान जोखिम में डालकर सबकी जान बचाई | बता दें कि सेलापास में तापमान हमेशा 10 डिग्री से कम होता है इतने कम डिग्री में सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है | ऐसी परिस्तीथियों में सेना ने जिस तरह लोगों की जान बचाई वह काबिले तारीफ है |

ALSO READ:  277 Engineering Colleges declared fake, a look at these Colleges

आपको बता दें कि सेना ने न केवल आम नागरिक बल्कि एक आतंकवादी के बेटे को भी अपनी जान जोखिम में डालकर बचाया था | दरअसल  फरवरी 2016 में कश्मीर के पंपोर में जब सेना और आतंकवादियों की मुठभेड़ हुई, उस वक्त आतंकवादी एक इमारत में जा छिपे | इस मुठभेड़ में सेना ने विजय प्राप्त की और आतंकियों को मार गिराया | जिस बिल्डिंग में आतंकी छिपे हुए थे उसमें 100 से ज्यादा लोग थे जिनमें एक आतंकवादी का बेटा था जिसकी जान सेना ने बचाई | बता दें कि वह हिजबुल मुजाहिदीन के मुखिया सैयद सलाउदीन का बेटा था | इस मुठभेड़ में सेना के पाँच जवान भी शहीद हुए थे |

ALSO READ:  Ram Mandir Shilanyaas: PM Modi addresses Nation, Kailash Vijayvargiya lambasts at MP Police for Misbehaviour with Ram Bhakts

Also ReadTop 7 Trending Fashion Pairs for Women

भारतीय सेना ने हर मुश्किल घड़ी में देश को संभाला है | उसी प्रकार जुलाई 2013 में जब उत्तराखंड के केदारनाथ में कुदरत ने अपना कहर बरपाया तो उस समय भी सेना एक दूत की तरह सामने आई | उस आपदा की घड़ी में सेना ने अपनी जान की परवाह न करते हुए हजारों लोगों की जान बचाई | तो उसी तरह 2008 के मुंबई हमलों को कौन भूल सकता है जिसमें कितने ही बेगुनाहो ने अपनी जान गवां दी| साल 2008 में आतंकवादियो ने जब मुंबई में दहशत फैलाई उस वक्त भी हमारी सेना ने एन एस जी कमांडो एवं महाराष्ट्र पुलिस के साथ मिलकर कड़ी मशक्कत के बाद सभी आतंकियों को मार गिराया | वैसे तो इस हमले में आम लोगों के साथ कई जवान शहीद हुए | भारतीय सेना की ऐसी जितनी मिसाले दी जाए वह कम है | गर्व है हमारी सेना पर जो हर हमले से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहती है | हम ऐसी कुशल सेना को नमन करते हैं |

ALSO READ:  Maratha youth dies during 'Jal Samadhi' protest, Government offers compensation

Also ReadTop 5 Fashion Tips To Remember During Summer