Home NATION तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट में आज से सुनवाई शुरू हुई, 6...

तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट में आज से सुनवाई शुरू हुई, 6 दिन की सुनवाई में तलाक विरोधी व समर्थक सभी को बोलने का मौका

4
SHARE
तीन तलाक, Teen Talaq
Hearing has begun in Teen Talaq Case in Supreme Court

मुंबई : आज से सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक के मुद्दे की सुनवाई शुरू हो गई है | मुस्लिम महिलाओं की धार्मिक स्वतंत्रता और उनके भविष्य को ध्यान में रखते हुए पांच जजों की पीठ इसकी सुनवाई कर रही है | खास बात यह है कि सुनवाई करने वाली इस पीठ में शामिल पांच जज अलग अलग धर्मों के हैं | सिख, ईसाई, पारसी, हिन्दू और मुस्लिम जज इस संविधान पीठ का हिस्सा हैं |




सुनवाई शुरू होते ही सुप्रीम कोर्ट ने यह कहा कि कोर्ट को यह जानना है कि तीन तलाक , हलाला और बहुविवाह धर्म का हिस्सा है या नहीं | अगर ऐसा है तो फिर इन्हें मानना धर्म के मौलिक हिस्सों में आएगा | सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से तीन तलाक पर उसका रुख क्या है यह बताने को कहा तो सरकार ने कहा कि वह तीन तलाक के खिलाफ है क्योंकि वो असंवैधानिक है |

 

ALSO READ:  Kanpur Police Encounter: Martyrdom of 8 Policemen, Hunt for Vikas Dubey Expedites

सरकार की इस बात पर दलील देते हुए पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा कि सरकार इस पर कानून बना सकती है पर कोर्ट को इसमें दखल नहीं देना चाहिए | इस पर याचिकाकर्ता ने कहा कि तीन तलाक मौलिक अधिकारों के हनन का मामला है | याचिकाकर्ता की वकील शायरा बानो ने कहा कि हमारे देश के संविधान में पुरुष और महिला को समान अधिकार दिए गए हैं पर मुस्लिम समाज मे तलाक के मामले में ऐसा नही है |




ALSO READ:  Nationwide 'Bharat Bandh' shows Congress power, BJP slams the protest

याचिकापक्ष ने दलील देते हुए यह भी कहा कि मुस्लिम समाज में पुरुषों के पास तलाक का अधिकार है पर महिला को नही जिससे पता चलता है कि पुरुष और महिला को समान मौलिक अधिकार नहीं हैं | जिस कारण कोर्ट को इस मामले को सुनने की जरूरत है | इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम तीन तलाक पर सुनवाई करेंगे | साथ ही हलाला इससे जुड़ा मामला है तो जरूरत पड़ने पर उसपर भी सुनवाई होगी | पर बहुविवाह पर सुनवाई नही करेंगे |

 

ALSO READ:  Know The Facts: Why Hindus Avoid Non-Vegetarian Food

गौरतलब है कि पिछले कई दिनों में ऐसे तलाक के मामले सामने आए हैं जिसमे पति ने फोन पर, व्हाट्सअप पर या फिर चिठ्ठी लिखकर तलाक दे दिया है जिस कारण इस मामले को गम्भीरता से लेना जरूरी है | फिलहाल कोर्ट ने कहा है की यह बहस 6 दिन चलेगी | 2 दिन तलाक विरोधी बोलेंगे | 2 दिन तलाक समर्थक बोलेंगे और 1-1 दिन एक दूसरे की बात का जवाब देंगे |

 

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here