Home LATEST एसबीआई ने क्रेडाई से मिलाया हाथ जानें अब आपको ऐसे मिलेंगे सस्ते...

एसबीआई ने क्रेडाई से मिलाया हाथ जानें अब आपको ऐसे मिलेंगे सस्ते घर

0
SHARE

मुंबई : देश की सबसे बड़ी सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने आम लोगों के घरों के सपनों को पूरा करने के लिए क्रेडाई के साथ हाथ मिलाया है | सरकार की रणनीति हाऊसिंग फॉर ऑल को पूरा करने एवं लोगों को अफोर्डेबल घर मुहैय्या कराया जा सके इसलिए स्टेट बैंक ने बिल्डरों की संस्था क्रेडाई के साथ मिलकर एक करार साइन किया है |

 

इस पार्टनरशिप के तहत स्टेट बैंक बिल्डरों को 0.35 प्रतिशत तक सस्ता कर्ज देगा | आपको बता दें कि घर खरीदने वालों के लिए स्टेट बैंक ने ‘हमारा घर’ नाम की एक स्कीम चालू की है और इसमें अफोर्डेबल हाउसिंग के लिए लोन मिलेगा | ‘हमारा घर’ इस स्कीम के तहत जो बिल्डर घर बनाएंगे और इस स्कीम में जो ग्राहक घर लेंगे उन्हें 0.1 प्रतिशत ब्याज की छूट भी मिलेगी |

 

हाल ही में क्रेडाई ने देशभर में 373 प्रोजेक्ट लॉन्च किए हैं जिसके जरिए 2.33 लाख घर बनाए जाएंगे| जिसमें करीब 70000 करोड़ का खर्च है | एसबीआई के मैनेजिंग डायरेक्टर रजनीश कुमार ने बताया कि इस स्कीम के ज़रिए लाखों लोगों के घर खरीदने के सपने को पूरा किया जा सकेगा | लोगों को सस्ते और बेहतर लोन की स्कीम द्वारा घर मिल सकेंगे और इस करार से रियल इस्टेट मार्केट में भी सुधार होगा |

 

उन्होंने यह भी बताया कि एसबीआई के साथ जो करार हुआ है उसमें कंसेशनल प्रोविजनिंग का प्रावधान है जिसके तहत किसी बिल्डर द्वारा प्रोजेक्ट अप्रूव होने पर प्रॉजेक्ट फाइनांस  के लिए फाइनेंस दिया जाएगा | साथ ही उस प्रॉजेक्ट में घर खरीदने वालों को भी लोन मिलेगा | इस तरह इस स्कीम में बिल्डर और घर खरीदने वाले दोनों को ही कम दरों में  लोन देने का प्रावधान है |

 

उसी तरह क्रेडाई के अध्यक्ष जक्षय शाह का कहना है कि यह स्कीम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2022 तक सभी लोगो के अपने घर के सपने को पूरा करने के लिए यह कदम उठाया गया है | उन्होंने यह भी बताया कि क्रेडाई ने अफोर्डेबल हाउसिंग के तहत 373 प्रोजेक्ट की घोषणा की है और आने वाले दिनों में 100 प्रोजेक्ट और अप्रूव किए जाएंगे | शाह ने यह भी कहा कि आने वाले 2 सालों में सस्ते दाम पर घर उपलब्ध कराने के लिए बड़ी संख्या में अफोर्डेबल प्रोजेक्ट लांच किए जाएंगे | जिससे आम लोगो के अपने घर के सपनों को पूरा किया जा सके |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here