Home NATION तीन तलाक के दर्द को झेल रही है यह राष्ट्रीय खिलाड़ी

तीन तलाक के दर्द को झेल रही है यह राष्ट्रीय खिलाड़ी

0
SHARE

मुंबई : देश की राजनीती में तीन तलाक के मुद्दे की गूंज हर जगह सुनाई दे रही है | आज हमारे देश में कितनी ही महिलाएं ऐसी हैं जो तलाक द्वारा पति से ठुकराई जाने के बाद दर-दर भटकने के लिए मजबूर हैं | इसी बीच खबर आई है उत्तर प्रदेश के अमरोहा में रहने वाली राष्ट्रीय खिलाड़ी शुमायला की जो इस तीन तलाक के दर्द को झेल रहीं हैं |

 

ससुराल से निकाल दिए जाने के बाद यह राष्ट्रीय खिलाड़ी अपनी बेटी के साथ इंसाफ की गुहार के लिए दर दर भटक रही है | इंसाफ पाने के लिए इसे ऑफिसों के चक्कर लगाने पड़ रहे है | फिर भी सुनवाई कब होगी पता नही |

 

शुमायला अमरोहा के पीरज़ादा निवास में रहने वाले जावेद इक़बाल की बेटी हैं जिन्हें बचपन से ही खेलों में दिलचस्पी थी | शुमायला नेटबॉल में सात बार नेशनल और चार बार ऑल इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा ले चुकीं हैं | शुमायला एक बेहतरीन और उम्दा खिलाड़ी हैं | उनके बेहतरीन प्रदर्शनों के कारण उन्हें कई पुरस्कारों से नवाज़ा जा चूका है |

 

बता दें कि शुमायला का निकाह 9 फरवरी 2014 को लखनऊ के गोसाईगंज में स्थित मोहनलालगंज गांव के निवासी फारुख अली के बेटे आजम अब्बासी से पूरे धूम धाम से हुआ था | परन्तु शादी के कुछ ही महीनों बाद शुमायला के ससुराल वाले दहेज के लिए उसे परेशान करने एवं सताने लगे | बताया तो यह भी गया है कि दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुराल वालों ने शुमायला को जलाकर मारने की कोशिश भी की थी |

 

उसी बीच शुमायला गर्भवती हुईं | शुमायला के अनुसार उसके ससुराल वालों ने कानून को ताक पर रखकर उसके गर्भ का लिंग परीक्षण भी करवाया | जिसमें उन्हें पता चला की शुमायला की कोख में बेटी है | जिस वजह से ससुराल पक्ष ने उसे घर से निकाल दिया | जिसके बाद शुमायला ने उसके मायके अमरोहा में बेटी को जन्म दिया |

 

शुमायला ने बताया कि जब वह बेटी को लेकर उसके ससुराल गई तो ससुराल वालों ने उसके साथ मारपीट की व घर से बाहर कर दिया साथ ही यह भी कह दिया कि इस घर में वापस कभी मत आना | ससुराल से दुबारा धक्का खाने के बाद शुमायला ने कानून का दरवाज़ा खटखटाया |

 

शुमायला ने बताया कि  25 अप्रैल 2015 को उन्होंने ससुराल वालों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज कराया तो उनके पति ने फोन पर ही उन्हें तलाक दे दिया | तब से ही शुमायला न्याय पाने के लिए भटक रही हैं | उत्तर प्रदेश में योगी सरकार से उन्हें बहुत उम्मीद है कि योगी सरकार उनके लिए ज़रूर कोई मदद करेगी और उन्हें न्याय दिलाएगी |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here