Home LATEST बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला अडवाणी,जोशी और...

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला अडवाणी,जोशी और उमा भारती सहित 13 बड़े नेताओं पर चलेगा मुकदमा

1
SHARE
बाबरी मस्जिद
Supreme Court gives out direction to prosecute few politicians in Babri Masjid Case

मुंबई : बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आज सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है | सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि भाजपा के बड़े नेता आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती सहित 12 नेताओं पर बाबरी मामले में आपराधिक साजिश रचने के आरोपों के तहत मुकदमा चलेगा | कल्याण सिंह के राज्यपाल पद पर होने के कारण उनपर फिलहाल मुकदमा नही चलेगा |

 

सुप्रीम कोर्ट के इस बड़े फैसले के बाद बीजेपी के इन नेताओं को बड़ा झटका लगा है | अब इन नेताओं पर धारा 120बी के तहत मुकदमा चलेगा | इस फैसले के आने के बाद से ही सियासी हलचल तेज़ हो गई है | कांग्रेस ने तो उमा भारती के इस्तीफे की मांग भी कर डाली है | न्यायधीश पीसी घोष और न्यायधीश रोहिंटन नरीमन की सयुक्त पीठ ने इस मामले में सीबीआई की अपील के बाद यह फैसला सुनाया है |

 

ALSO READ:  OnePlus 7T Renders Reveal Triple Lens Rear Camera and Other Details, Things we Know

सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट से अपील की थी कि भाजपा के नेता लालकृष्ण आडवाणी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती सहित 13 नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने के तहत मुकदमा चलाने की मांग की थी | सीबीआई पक्ष के वकील नीरज कौशल कोल ने सुप्रीम कोर्ट से अपील की थी कि रायबरेली कोर्ट में चल रहे मामले को भी लखनऊ ट्रान्सफर किया जाए और साझा तरीके से ट्रायल चलाने की बात कही |

 

ALSO READ:  Panasonic Eluga Ray 550 With 'Big View Display' and 8-Megapixel Selfie Camera Launched in India

आपको बता दें कि इससे पहले की 6 अप्रैल की सुनवाई के दौरान इस मामले पर न्यायधीश रोहिंटन नरीमन ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि इस मामले में कई आरोपी पहले ही मर चुके हैं | यदि इसी तरह देरी होती रही तो और कुछ कम हो जाएंगे | इस दौरान आडवाणी के वकील के.के.वेणुगोपाल ने मामले को स्थानांतरित करने का विरोध किया था |

 

ALSO READ:  Bhiwandi Building Collapse: 8 Dead & Several Feared Trapped as 3-Storeyed Building Collapses in Patel Compound Area in Maharashtra

फिलहाल यह मामला भी लखनऊ में चलाने का आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दे दिया है | साथ ही कोर्ट ने 2 साल में केस की सुनवाई पूरी करने को कहा है |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here