Home RELIGION भांग की कुछ रहस्यमय बातें जिसे पढ़ना चाहिए आपको इस होली के...

भांग की कुछ रहस्यमय बातें जिसे पढ़ना चाहिए आपको इस होली के पावन अवसर पर

6
SHARE
Bhang भांग

भांग एक ऐसी चीज़ है जिसके बगैर होली और महाशिवरात्रि जैसे त्यौहार मानाने के बारे में लोग सोच भी नहीं सकते । इन त्योहारों में भांग की कुछ अलग ही विशेषता है । आइए जानते हैं भांग से जुडी कुछ बातें

 

वेदों और पुराणों में भांग का ज़िक्र हम अक्सर पाते हैं । बताया जाता है कि भांग और शोमरस दोनों एक ही हैं ।

 

भांग भगवान भोलेनाथ का एक प्रिय पेय पदार्थ है । वैसे तो पुराणों में भगवान भोलेनाथ जी और भांग से जुड़ी कई कहानियाँ हैं जैसे
एक कहानी यह है कि भगवान भोलेनाथ हमेशा ध्यान लगाए रहते हैं और भांग भगवान भोलेनाथ जी का ध्यान एकत्र करने में मदद करता है । इसलिए ज्यादातर समय भांग पीकर अपना ध्यान एकत्र करते हैं और मग्न रहते हैं ।

 

ALSO READ:  Nitin Gadkari Talks Tough with Indian Navy for Their Project Roadblock Attempt

एक और कहानी ऐसी है कि जब देवताओं और अशुरों के बीच समुद्र मंथन हुआ था तब भगवान भोलेनाथ ने उससे निकले जहरीले विष को पिया नहीं बल्कि उस विष को अपनी कंठ में रखा जिसके कारण उन्हें अपने कंठ में बहुत गर्मी लगने लगी और वह इसी कारण हिमालय के पर्वत पर जा बैठे और भांग जो की ठंडाई का काम करती है उसे पीने लगे । इसी कारण भांग उनका एक प्रिय पेय पदार्थ बन गया ।

 

वैसे एक कहानी और है जिसके अनुसार जब समुद्र मंथन हुआ तब उसमें से एक बूंद मद्र पर्वत पर गिर गयी । और इसी बूंद से एक पौधा पैदा हुआ । इस पौधे का रस देवताओं को बहुत पसंद आया | इसी कारण भगवान भोलेनाथ ने इस पौधे को हिमालय ले गए और अपने साथ रखा जिसके कारण सभी इस रस का सेवन कर सके ।

 

ALSO READ:  Yogi Adityanath Tries to Woo Investors by Leading the UP State Towards Being "Investment Friendly"

यह तो रही पुराणों की बात वैसे आयुर्वेद में भी भांग को मनुष्य के लिए औषधि माना गया है । भांग त्वचा और जख्मों के लिए लाभदायक है । बताया जाता है कि भांग यदि सही मात्रा में ले तो मनुष्य के शरीर के लिए बहुत लाभदायक है ।

 

वैसे जिस तरह हर चीज़ का फायदा और नुकसान होता है उसी तरह भांग के भी हैं । यदि भांग ज्यादा मात्रा में लिया जाए तो यह शरीर को बहुत नुकसान पहुंचाती है । ज़्यादा मात्रा में पीने से भांग का नशा जल्दी उतरता नहीं और इंसान अपने होश और आवास में नहीं रहता । जब तक भांग का नशा चढ़ा रहेगा तब तक भांग पिया हुआ मनुष्य अजीबोगरीब हरकतें करता रहेगा । ज्यादा मात्रा में भांग पिने से इंसान कुछ दिनों के लिए अपना मानसिक संतुलन भी खो सकता है ।

 

ALSO READ:  GPS with Panic Button Mandatory in Public Transport Vehicles from April 1 - Transport Ministry

वैसे तो भांग ज़्यादातर लोग इन त्योहारों में ठंडाई के रूप में पीते हैं और त्यौहार का आनंद लेते हैं । अजंता न्यूज़ की भी अपने रीडर्स से यही अपील है कि होली और महाशिवरात्रि के दिन खूब खेलें, खूब आनंद लें और दूसरों के साथ मिलकर इन त्योहारों का मज़ा लें । आप सभी को होली की शुभकामनाएं ।

 

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here