Home NATION पंजाब के फगवाड़ा में मायावती कि पहली चुनावी रैली, विरोधियों पर जमकर...

पंजाब के फगवाड़ा में मायावती कि पहली चुनावी रैली, विरोधियों पर जमकर साधा निशाना

2
SHARE
पंजाब-फगवाड़ा-मायावती-पंजाब-चुनावी-रैली

पंजाब: मायावती ने पंजाब में बसपा कि पहली चुनावी रैली कि शुरुवात सोमवार को फगवाड़ा जिले से की | रैली में जनता को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि बीजेपी और काँग्रेस  दोनों ही आरक्षण विरोधी पार्टियाँ हैं | दोनों पार्टियाँ आरक्षण हटाने कि साजिश कर रहीं हैं | उन्होंने गरजते हुए कहा कि पंजाब राज्य में गरीब, मजदूर, किसान, छोटे व्यापारी, आदि, सरकार कि गलत आर्थिक नीतियों के कारण परेशान हैं | मायावती के मुताबिक सरकार गरीब तबके को नज़रअंदाज़ कर केवल बड़े पूँजीपतियों को फायदा पहुंचा रही है |

 

उसी तरह पंजाब में दलितों और पिछड़े वर्ग के लोगों पर अत्याचार होने कि बात भी कही | तो सरकार कि गलत नीतियों के कारण गरीब वर्ग प्रभावित है ऐसा उनका कहना है | पंजाब कि मुख्य समस्याओं पर बोलते हुए मायावती ने कहा कि पंजाब कि मुख्य समस्या बेरोज़गारी और नशे कि लत है | इसके लिए कांग्रेस एवं बीजेपी सरकार जिम्मेदार है | उन्होंने ने कहा कि नौजवान, बुज़ुर्ग नशे कि लत से परेशान हैं और इस लत से बहुतों के परिवार बर्बाद हो गए हैं | पर यदि उनकी पार्टी सरकार में आती है तो वे इस नशे के व्यापार को ही समाप्त करा देंगी | इस व्यापार को चलाने वाले माफियाओं को कड़े क़ानून के तहत जेल में डलवा देंगी | पर यह सब तब हो सकता है जब उनकी पार्टी सत्ता में आए |

 

ALSO READ:  Top 7 Things Proscribed (Haram) In Islam

मायावती ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव से पहले पार्टियां घोषणापत्र में बहुत से चुनावी वादे करती हैं | पर सरकार में आनेपर सब भूल जाते हैं | उन्होंने बीजेपी के २०१४ के घोषणापत्र के बारे में बोलते हुए कहा कि बीजेपी ने लोगों को अच्छे दिनों के झूठे वादे किए | पर गरीबों, किसानों, छोटे व्यापारियों, मजदूरों कि अवस्था आज भी निचले स्तर पर है |

 

ALSO READ:  CDSCO asks Bharat Biotech to submit complete immunogenicity data of Phase 2 trial of COVID-19 vaccine

मायावती ने मोदीजी पर निशाना साधते हुए कहा कि घोषणापत्र के मुताबिक़ तो १०० दिनों में देश का काला धन वापस लाने को कहा था | बजाय काला धन वापस लाने के, सरकार के बिना किसी तैयारी के नोटबंदी पर लिए फैसले ने ९०% गरीबों, किसानों, मजदूरों एवं मध्यम वर्गीय लोगों को तोड़कर रख दिया है | उन्होंने जनता से कहा, “हमारी पार्टी कभी भी कोई भी घोषणापत्र जारी नहीं करती क्योंकि हम कहने से ज्यादा करने में विश्वास करते हैं |” मायावती ने जनता को सोच समझकर वोट डालने एवं लालच में ना आकर सही पार्टी को सरकार में लाने का निवेदन किया |

 

ALSO READ:  North East Delhi Riots were a Result of Conspiracy - HM Amit Shah in Lok Sabha

मायावती ने अंत में कहा कि पंजाब कि जनता उन्हें एक बार सत्ता में आने का मौका दे तो वह पंजाब के विकास को ऊँचाइयों पर ले जाएँगी |

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here