Home NATION कोर्ट के फैसले के बाद टुटा मुख्यमंत्री बनने का सपना अब शशिकला...

कोर्ट के फैसले के बाद टुटा मुख्यमंत्री बनने का सपना अब शशिकला को जाना होगा जेल

0
SHARE
शशिकला

तमिलनाडु: तमिलनाडु की राजनीती में तब हड़कंप मच गया जब मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति मामले में शशिकला को आरोपी मानते हुए चार साल की सज़ा सुनाई | शशिकला के साथ उनके दो रिश्तेदारों को भी चार साल की सज़ा और 10-10 करोड़ रुपये जुर्माना लगाया है |

 

कोर्ट के इस फैसले के साथ ही शशिकला का मुख्यमंत्री बनने का सपना भी टूट गया | सुप्रीम कोर्ट ने शशिकला को तुरंत सरेंडर करने को कहा है | पार्टी में महासचिव पद पर विराजमान शशिकला को यह पद छोड़ना होगा और अगले दस साल तक उन्हें कोई पद नहीं मिलेगा | अब तो शशिकला 6 साल तक चुनाव भी नहीं लड़ सकती |

 

फ़िलहाल पार्टी की सहमति से शशिकला की भरोसेमंद ई.के प्लनिस्वामी को विधायक दल का नेता चुन लिया गया है | और पन्नीरसेल्वम को पार्टी से बर्खास्त कर दिया गया है |

 

दरअसल यह मामला 21 वर्ष पुराना साल 1996 का है | जब जयललिता के खिलाफ आय से अधिक 66 करोड़ संपत्ति का केस दर्ज हुआ था  | इस मामले में शशिकला और उनके दो रिश्तेदारों पर भी केस दर्ज हुआ था | 27 सितंबर 2014 में बेंगलुरु की स्पेशल कोर्ट ने जयललिता, शशिकला और उनके दो रिश्तेदारों को चार साल की सज़ा और 100 करोड़ का जुर्माना लगाया था पर 11 मई 2015 को कर्नाटक हाईकोर्ट ने सबूतों के अभाव के चलते जयललिता, शशिकला सहित सभी को बरी कर दिया था |

 

बाद में डीएमके और सुब्रमण्यम स्वामी ने हाईकोर्ट के इस आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी | अब सुप्रीम कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखते हुये शशिकला और उनके दो रिश्तेदारों को चार साल की सज़ा और 10-10 करोड़ का जुर्माना लगाया है | चूँकि जयललिता अब इस दुनिया में नहीं हैं इसलिए उनके मुकदमे को खत्म कर दिया गया है | सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर जब सुब्रमण्यम स्वामी को पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं | उनके मुताबिक भ्रष्टाचार बाकी मामलों पर भी जल्द फैसले आने चाहिए |

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here