Friday, October 20, 2017
Home > NATION > जानिये आखिर क्यों भगवा रंग हिन्दू प्रिय रंग है ।

जानिये आखिर क्यों भगवा रंग हिन्दू प्रिय रंग है ।

भगवा रंग/why bhagwa is hindutva signature

दुनिया में अनेक रंग हैं और यह दुनिया रंग बिरंगी है । किसीको लाल तो किसीको पीला रंग पसंद है । किसीको सफ़ेद तो किसीको काला रंग पसंद है । रंग चाहे जो हो सबको कोई ना कोई रंग ज़रूर पसंद है । वैसे रंगों के भी बहुत महत्व होते है । यहाँ तक की कई मौकों पर कुछ खास रंगों को ही चुना जाता है । और-तो-और कुछ ऐसे रंग भी है जिन्हें धर्मों से भी जोड़ा गया है और लोग इन रंगों की शान के लिए अपनी जान की बाज़ी भी लगा देते हैं । जैसे केसरिया रंग या भगवा रंग हिंदुत्व को दर्शाता है और हरा रंग मुस्लिमों को पसंद आता है । वैसे कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें यह जानना है आखिर क्यों भगवा रंग हिन्दू धर्म से जुड़ा है तो आइये जानते हैं इस रहस्य को ।

 

जैसे हम सभी को पता है कि हिन्दू धर्म में सूर्य और अग्नि दोनों को पूजा जाता है । रौशनी और अग्नि बुराइयों को दूर करती है । केसरिया या पीला रंग सूर्य और अग्नि का प्रतिनिधित्व करता है । इसलिए भी हिन्दू धर्म में भगवा रंग बहुत शुभ माना जाता है । ज्यादातर शुभ कार्यों में हिन्दू धर्म के लोग भगवा रंग को ही ज़्यादा महत्व देते हैं ।

 

Shadhu in Bhagwa

सनातन धर्म में केसरिया रंगों के वस्त्र हर वो साधू महात्मा धारण करते हैं जो इस संसार के मोह माया को त्याग चुके होते हैं और सिर्फ भगवान की खोज में निकल पड़ते हैं । कहा जाता है कि भगवा रंगों के वस्त्र पहनने से मनुष्य के अंदर के अशुद्ध और गन्दी चीज़े दूर हो जाती हैं और बुरी आत्माओं को नज़दीक नहीं आने देती । वैसे भगवा रंग को संयम और आत्मनियंत्रण का प्रतीक भी माना जाता है ।

 

कहा जाता है कि पुराने ज़माने में साधु संत जब मोक्ष की प्राप्ति के लिए निकला करते थे तब अपने साथ अग्नि को भी लेकर निकलते थे । यह अग्नि उनकी पवित्रता की निशानी बन जाती थी । पर हर समय अग्नि रखना कठिन था इसलिए अग्नि की जगह भगवा रंग के ध्वज को साधु संत लेकर चलने लगे । फिर धीरे धीरे साधू संत केसरिया या कहें भगवा रंग के वस्त्र भी पहनने लगे । और इसीप्रकार अब भगवा रंग हिंदुत्व को दर्शाता है ।

 

वैसे सिर्फ हिन्दू धर्म में ही नहीं बल्कि बौद्ध धर्म और सिख धर्म में भी केसरिया रंग को बहुत महत्व दिया गया है । बौद्ध धर्म में खुद भगवान बुध्द को ज़्यादातर केसरी रंग के वस्त्र पहने दिखाया जाता है और सिख धर्म में पवित्र निशान ‘निशान साहिब’ को भी केसरी रंग में लपेटा जाता है । इसके साथ सिख धर्म के दसवें और अंतिम गुरु गोबिंद सिंह द्वारा बनाए गए पंज प्यारे भी केसरी रंग के वस्त्र में ही रहते थे ।

 

Shanti Vaish
Shanti Vaish is an Editor @AjantaNews and has good understanding of Politics, Fashion and Entertainment World. Do stay connected with her on social media.
http://www.ajantanews.com

4 thoughts on “जानिये आखिर क्यों भगवा रंग हिन्दू प्रिय रंग है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *